Gwalior 

चंबल के बीहड़ों में इजरायल बना रहा है इंडियन आर्मी के लिए फ्यूचर सर्जीकल वैपन्स

 

ग्वालियर. जिन चंबल के बीहड़ों को डकैतों के लिए जाना जाता है, उसी स्थान पर दुनिया के सबसे घातक हथियार बनाए जा रहे हैं। ये हथियार उसी इजराइल की मदद से बनाए जा रहे हैं, जहां पीएम नरेन्द्र मोदी यात्रा पर हैं। भिंड के मालनपुर इंड्रस्ट्रियल एरिया में पुंज लॉयड में इंडियन आर्मी के लिए गन बनाई जा रही हैं।

-पिछले साल जब भारतीय सेना की स्पेशल फोर्स के जवानों में पाक अधिकृत काश्मीर में सर्जीकल स्ट्राइक करके आतंकवादियों के कैंपों को नष्ट किया था, तो उनके पास इजरायल में बनी गन, टेवोर, गालिल थीं।
-अब अगली बार स्पेशल फोर्स जब भी कभी सर्जीकल स्ट्राइक करेंगी तो उनके पास हथियार तो यही होंगे, लेकिन विदेशी नहीं, बल्कि मेड इन इंडिया। ये सभी गन तैयार भिंड के मालनपुर इंड्रस्ट्रियल एरिया की पुंज लॉयड फैक्ट्री में तैयार हो रही हैं।
– इजराइल इन गन को अपनी राजधानी तेलअबीब में बना रहा है। इजरायल वैपन इंड्रस्ट्जी (IWI) कंपनी के साथ पुंज लॉयड ने समझौता किया है और मई महीने से प्रोडक्शन भी शुरू हो गया है।
वर्ल्ड क्लास हथियार बनेंगे मालनपुर में
-पुंज लॉयल की डिफेंस डिवीजन में में Tavor-21 Galil assault rifle Negev Light Machine Guns, Galil sniper rifles और X-95 वर्ल्ड क्लास हथियार बनाए जा रहे हैं।
-इजरायल की इजरायल वैपन्स इंड्रस्टीज (IWI)  आर्मी की स्पेशल फोर्स, बल्कि एयर फोर्स और नेवी की जरूरतों के हिसाब से हथियार तैयार किए जाएंगे।
-मालनपुर यूनिट में मशीन और प्लांट ठीक वैसा ही है, जैसा इजरायल की राजधानी तेल अबीब में फैक्ट्री है। यहां पर फायरिंग रेंज भी बनाई गई है और सभी प्रकार के परीक्षण भी होंगे।
वर्ल्ड क्लास हथियार बनेंगे मालनपुर में
-पुंज लॉयल की डिफेंस डिवीजन में में Tavor-21 Galil assault rifle Negev Light Machine Guns, Galil sniper rifles और X-95 वर्ल्ड क्लास हथियार बनेंगे।
-इजरायल की इजरायल वैपन्स इंड्रस्टीज (IWI)  आर्मी की स्पेशल फोर्स, बल्कि एयर फोर्स और नेवी की जरूरतों के हिसाब से हथियार तैयार किए जाएंगे।
-मालनपुर यूनिट में मशीन और प्लांट ठीक वैसा ही है, जैसा इजरायल के नजदीक तेल अबीब में फैक्ट्री है। यहां पर फायरिंग रेंज भी बनाई गई है और सभी प्रकार के परीक्षण भी होंगे।
यह खासियत हैं स्पेशल फोर्स के हथियारों की
Tavor-21
-यह गन 550 मीटर तक अचूक निशाना लगाती है और हर मिनट में 650 फायर कर सकती है। मात्र 3.5 किमी वजन वाली इस गन से तुरंत अटैक किया जा सकता है।
Galil assault rifle
-यह गन 750 मीटर तक अचूक निशाना लगाती है और हर मिनट में 750 फायर कर सकती है।इसी प्रकार की स्नाइपर गन भी बनती है
Negev Light Machine Guns
-साढ़े सात किलो वजन वाली यह गन फोर्स की पसंदीदा गन है और एक किमी तक अचूक निशाना लगाती है। एक मिनट में एक हजार राउंड फायर कर सकती है।
X-95
-यह Tavor-21 का नया रूप है। छोटे आकार की यह गन मात्र 4 किलो वजन की होती है और एक किमी तक फायर कर 950 राउंड प्रति मिनट फायर कर सकती है।

Related posts