Gwalior 

स्टेशन पर रो रही थी पुणे से आई बच्ची, स्टूडेंट ने वीडियो कॉल ऐसे मिलवाए पेरेंट्स

ग्वालियर. एक कॉलेज स्टूडेंट की समझदारी से पुणे से अपनी 10 साल की सहेली के साथ ग्वालियर आ गई 8 साल की बच्ची को उसके पेरेंट्स वापस मिल गए। दोनों लड़कियां दो महिलाओं के साथ स्टेशन के पास थीं और रो रही थीं। इससे स्टूडेंट को शक हुआ, उसने पूछताछ की तो महिलाएं भाग गईं। बाद में स्टूडेंट ने पुलिस की मदद से वीडियो कॉल किया और पुणे से लड़कियों के पेरेंट्स को खोज निकाला। अब लड़कियां अपने पेरेंट्स के पास सुरक्षित हैं।
 शहर के एक कॉलेज की स्टूडेंट रेणु सेठी 30 सितंबर की शाम को रेलवे स्टेशन के पास से निकल रही थीं। उनका फ्रेंड रूपेश भी साथ था। उसी दौरान उन्होंने देखा कि दो लड़कियां महिलाओं के साथ जा रही थीं। दोनों लड़कियां रो रही थीं। यह देख रेणु को संदेह हुआ। एक महिला ने रेणु के सामने ही बड़ी बच्ची को थप्पड़ मारा तो रेणु से रहा नहीं गया, वह उनके पास पहुंची तो महिलाएं भाग गईं।
 रेणु ने तत्काल पुलिस को फोन कर मौके पर बुला लिया। पुलिस सभी को थाने ले आई। थाने में रेणु ने प्यार से पूछा तो 8 साल की बच्ची ने अपना नाम सोनम पांडे बताया, उसने बताया कि वह पुणे में रहती है, उसके पिता एक प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं।
सोनम ने बताया कि दूसरी बच्ची उस घर के पास ही रहने वाली 10 साल की गुंजन है। वही उसे यह कह कर ट्रेन में ले आई कि ग्वालियर में उसकी दूसरी मां रहती है, जो सब बच्चों से बहुत लाड़ करती है।
वीडियो कॉल पर खोई बेटी को देख रो पड़ा पिता
रेणु ने सोनम से पिता का नंबर लेकर वीडियो कॉल किया, रेणु के फोन पर पिता को बोलते देख सोनम ने पहचान लिया। खोई हुई बेटी को देख पिता राम प्रताप पांडे की आंखों में आंसू आगए।
पुलिस ने रामप्रताप के बताए पुलिस स्टेशन पर पूछताछ कर तस्दीक कर ली कि रामप्रताप की बेटी सोनम की गुमशुदगी दर्ज है। इसके बाद राम प्रताप को ग्वालियर आकर बेटी सोनम को ले जाने के लिए कहा गया। पेरेंट्स के आने तक सोनम को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया गया।
 पुलिस ने गुंजन को भी ग्वालियर में उसकी मां के पास भेज दिया है, लेकिन उसकी मां से पूछताछ की जा रही है, कि गुंजन पुणे कैसे पहुंची और वहां से ग्वालियर कैसे आई।
7 दिन बाद मिली खोई हुई बेटी
बुधवार को सोनम के पिता राम प्रताप पांडे आए और फॉर्मेलिटीज पूरी कर बेटी को चाइल्ड लाइन से अपने साथ घर ले गए।
चाइल्ड लाइन की जब सोनम ने तारीफ की तो पिता ने सब लोगों को बेटी की अच्छी तरह देखभाल के धन्यवाद किया। इसके साथ ही राम प्रताप ने बेटी से मिलवाने में पुलिस व रेणु को भी धन्यवाद दिया।

Related posts