अश्विन-जडेजा को रिप्लेस करने को लेकर कुलदीप यादव ने दिया बड़ा बयान

गुवाहाटी : टीम इंडिया से बाहर चल रहे स्टार स्पिन गेंदबाज आर अश्विन और रविंद्र जडेजा को लेकर कुलदीप यादव ने बड़ा बयान दिया है. कुलदीप ने कहा वह भारतीय टीम में अश्विन और जडेजा की जगह लेने के बारे में नहीं सोच रहे हैं. बता दें कि पिछले कुछ वक्त से रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को दरकिनार कर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल को टीम इंडिया में लगातार मौके दिए जा रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो स्पिनरों को उतारने की भारत की रणनीति कारगर भी साबित हुई है. ऐसे में अटकलें लगाई जा रही हैं कि टीम इंडिया में  अश्विन और जडेजा की जगह लेने वाले स्पिनर अब आ गए हैं. यादव और युजवेंद्र चहल वनडे सीरिज में भारत की 4-1 से जीत में सूत्रधार रहे जबकि मौजूदा टी-20 सीरीज का पहला मैच जीतकर भारत 1-0 से आगे है.

 

यादव ने दूसरे टी-20 से पहले कहा ,‘‘मैं इतना आगे की नहीं सोचता. अश्विन और जडेजा दोनों ही तीनों फॉर्मेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आए हैं. उनकी जगह लेने का सवाल ही पैदा नहीं होता. हम अभी काफी युवा है और हमारे भीतर काफी क्रिकेट बाकी है. मैं अभी इस बारे में नहीं सोच रहा.’’

उन्होंने कहा,‘‘मैं रहस्यमयी गेंदबाज नहीं हूं जो अलग-अलग हाथों से गेंदबाजी करे. दो-तीन साल बाद फिर बल्लेबाजों के लिए आपको खेलना आसान हो जाता है. यदि आपके बेसिक्स सही हैं तो आपके लिए गेंदबाजी आसान हो जाती है.’’

VIDEO : चहल को कैटरीना और कुलदीप की पसंद हैं जैक्लीन, रोहित ने खोले ‘शर्मीले खिलाड़ियों’ के राज

यादव ने कहा ,‘‘ मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई वीडियो समीक्षा करके आपकी गेंदों को भांपने की कोशिश करता है. यदि आप सही दिशा में विविधता के साथ गेंदबाजी करेंगे तो बल्लेबाज परेशान होंगे ही. फिर चाहे उन्होंने कितनी ही वीडियो समीक्षा कर रखी हो.’’

बता दें कि कुछ दिन पहले टीम इंडिया के पूर्व धाकड़ बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भी कहा था कि कुलदीप और चहल की वजह से अश्विन और जडेजा को लोग भूलने लगे हैं. सहवाग ने टीम में मौजूद चाइनामैन कुलदीप यादव और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल की तारीफ की है और कह कि इन दोनों ने अश्विन और जडेजा की कमी को खलने नहीं दिया जो टीम के लिए अच्छी बात है. उन्होंने कहा कि युवाओं को अच्छा प्रदर्शन करते देखना अच्छा लगता है. सहवाग के मुताबिक इन दो स्पिन गेंदबाजों ने अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर लोगों को अश्विन और जडेजा को भूलने पर मजबूर कर दिया है.

वीरेंद्र सहवाग ही नहीं, हरभजन सिंह का भी कुछ ऐसा ही मानना है. हाल ही में हरभजन ने भी कहा था कि, टीम इंडिया में कुलदीप की जगह लेना मुश्किल है. हरभजन सिंह ने कहा था कि बांये हाथ के स्पिनर कुलदीप यादव ने हैट्रिक लेकर टीम में अपनी जगह वैसे ही पक्की कर ली है, जैसे उन्होंने 2001 में की थी. हरभजन ने उस ऐतिहासिक मैच की हैट्रिक को याद करते हुए कहा, ‘‘वहीं विपक्ष, वहीं लम्हा, वहीं मैदान और उसी उम्र का दूसरा स्पिनर. जब मैं कुलदीप को गेंदबाजी करते देख रहा था तो मुझे मार्च 2001 में खेली गई कोलकाता टेस्ट मैच की याद आ रही थी. यह महान उपलब्धि है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘एक युवा स्पिनर के तौर पर जब आप अपने करियर के शुरुआती दौर में हैट्रिक लेते हैं तो आपका आत्मविश्वास दूसरे स्तर पर चला जाता है. ये ऐसी उपलब्धि है जिसकी याद हर क्रिकेटर पूरी जिंदगी संजो कर रखना चाहता है.’’

टीम के दूसरे स्पिनर युजवेन्द्र चहल भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं, ऐसे में अश्विन और जडेजा के लिए टीम में जगह बनाना कितना मुश्किल है इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘यह हमेशा मुश्किल होने वाला है. अगर आपके मौजूदा दोनों स्पिनर अच्छा कर रहे तो वरिष्ठ स्पिनरों के लिये टीम में जगह बनाना मुश्किल हो जाता है. जड्डू (जडेजा) और अश्विन के लिए वनडे टीम में वापसी करना काफी चुनौतिपूर्ण होने वाला है. फिलहाल दोनों युवा (कुलदीप और चहल) अच्छा कर रहे और मुझे नहीं लगता उन्हें बदलने की जरूरत है. भविष्य में क्या होगा इसका आप अंदाजा नहीं लगा सकते.’’

गौरतलब है कि कुलदीप यादव ने जब से टीम इंडिया में एंट्री ली है, तब से वह लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तो उनका प्रदर्शन काबिले-तारीफ रहा है. पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इसी साल धर्मशाला में हुए आखिरी टेस्ट मैच में डेब्यू करने वाले भारत के पहले ‘चाइनामैन’ गेंदबाज कुलदीप यादव ने अपनी छाप छोड़ी. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू करने वाले कुलदीप ने चार विकेट लेकर यह दिखा दिया था कि वह कलाइयों के जादूगर हैं.

इससे पहले अंडर 19 में कुलदीप ने हैट्रिक ली थी. तब राहुल द्रविड़ ने कुलदीप की बेपनाह तारीफ की थी. चैंपियंस ट्रॉफी में कोच अनिल कुंबले ने फाइनल में कुलदीप को खिलाए जाने की वकालत की थी. हालांकि, तब कप्तान विराट कोहली ने कुंबले की इस सलाह को नजरअंदाज करते हुए अश्विन और रविंद्र जडेजा को जगह दी थी, लेकिन अब खुद विराट कुलदीप को लगातार मौके दे रहे हैं और कुलदीप भी अपने कप्तान के इस फैसले को सही साबित करते दिखा रहे हैं.

हाल ही में खत्म हुई 5 वनडे मैचों की सीरीज में भी कुलदीप का प्रदर्शन शानदार रहा और इसके साथ ही रांची में खेले गए पहले टी-20 मैच में भी कुलदीप की कलाइयों का जादू जमकर चला.ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले टी-20 मैच में अच्छा प्रदर्शन कर ‘मैन ऑफ द मैच’ का खिताब जीतने वाले गेंदबाज कुलदीप यादव के लिए मैच में केवल अधिक से अधिक विकेट लेना ही मायने रखता है.

बता दें कि रांची में खेले गए तीन टी-20 मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 9 विकेट से हराया. इस मैच में कुलदीप ने दो विकेट चटकाए थे. टी-20 मैच में पहली बार ‘मैन ऑफ द मैच’ का पुरस्कार पाकर कुलदीप बेहद खुश हैं.

उन्होंने मैच के बाद अपनी  खुशी जाहिर करते हुए कहा था कि, “मैं पहली बार इस खिताब को पाकर बेहद खुश हूं. मेरे दिमाग में हमेशा ही मैच के दौरान अधिक से अधिक विकेट लेना ही रहता है और मेरे लिए केवल यहीं चीज मायने रखती है. मेरे अंदर हर गुजरते दिन के साथ आत्मविश्वास और भी ²ढ़ होता जा रहा है.” कुलदीप ने ऑस्ट्रेलिया के लिए अच्छी पारी खेल रहे एरोन फिंच का विकेट लेने में अहम भूमिका निभाई.

इस बारे में कुलदीप ने कहा, “पहले कुछ गेंद डालकर मैंने उनकी बल्लेबाजी के तरीके को पढ़ा. इसके बाद मुझे समझ आया कि वह मिड-ऑफ में की गई गेंद को सही से नहीं खेल पा रहे हैं और इसी का फायदा उठाकर मैंने उसी तरह की गेंदबाजी और नतीजा आपके सामने था.” भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच अगला टी-20 मैच गुवाहाटी में 10 अक्टूबर को खेला जाएगा.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

Related posts