मु ख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के नेतृत्व में पंजाब के सरकारी स्कूलों में शिक्षा क्रांति का नया अध्याय शुरू होने जां रहा है। सरकारी हाई स्कूलों और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों की कक्षाओं को अब हाईटेक स्मार्ट क्लासरूम में तब्दील किया जाएगा। बच्चों को नई तकनीक से जोड़ने और शिक्षा का डिजिटलीकरण करने के उद्देश्य से पंजाब सरकार की तरफ से यह सराहनीय कदम उठाया गया है। फिलहाल पंजाब के 3,821 स्कूलों की 7,642 कक्षाओं को स्मार्ट बनाया जाएगा जबकि आने वाले समय में प्रदेश के सभी जिलों के सारे सरकारी स्कूलों में हाईटक स्मार्ट क्लासरूम बना दिए जाएंगे। कक्षाओं में फ्लैट पैनल टच एलईडी स्क्रीन व प्रोजेक्टर लगाए जाएंगे। यह हाईटेक टच स्क्रीन छूने पर मोबाइल स्क्रीन की तरह काम करेगी। स्मार्ट क्लासरूम में टच स्क्रीन व्हाइट बोर्ड में रिकार्डेड लेक्चर भी चलाए जा सकेंगे। स्क्रीन पर टीवी की तरह यू-ट्यूब पर उपलब्ध एनसीईआरटी की पठनीय सामग्री भी दिखाई जा सकेगी। मोबाइल में उपलब्ध शैक्षणिक डाटा भी इंटरनेट की मदद से स्क्रीन पर दिखाया जा सकेगा। स्कूलों में स्मार्ट क्लासरूम शुरू करने से पहले उनमें वाई-फाई की सुविधा भी शुरू की जाएगी ताकि स्मार्ट क्लासरूम सही मायने में शिक्षा के स्तर को उठाने में कामयाब हो। उल्लेखनीय है कि पंजाब में वर्ष 2018 से सरकारी स्कूलों में डिजिटल पढ़ाई शुरू करने के लिए काम शुरू किया गया था। शुरूआत में 30 स्कूलों को पायलट प्रोजेक्ट में स्मार्ट क्लासरूम दिए गए थे।

3821 स्कूलों की 7642 कक्षाओं में लगेंगे टच एलईडी स्क्रीन वा प्रोजेक्टर

बच्चों को एनिमेटेड पाठ्यक्रम के जरिये पढ़ाई करवाई गई और पाया गया कि प्रोजेक्टर और स्क्रीन की मदद से बच्चों ने जो भी पढ़ा, उसका बच्चों के दिमाग पर अधिक प्रभाव पड़ा। इसके बाद प्रदेश के 19,120 स्कूलों के

प्राइमरी और मिडिल स्कूलों की एक-एक कक्षाओं में एलईडी स्क्रीन व प्रोजेक्टर, हाई स्कूल में तीन और सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में पांच व्हाईट बोर्ड स्क्रीन प्रोजेक्टर लगाए गए। स्मार्ट क्लासरूम को आकर्षक बनाने के लिए लगातार नई तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्मार्ट क्लासरूम के लिए बजट की स्वीकृति भी की गई। प्रत्येक स्मार्टक्लास के लिए तीन हजार रुपये, प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों के लिए छह हजार रुपये, हाई स्कूलों के लिए नौ हजार रुपये, सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के लिए 15,000 रुपये की राशि स्वीकृत की गई है। स्मार्ट क्लासरूम के खिड़की और दरवाजों को पेंट करवाने के अलावा सुंदर पर्दों से कक्षाएं सजाई जा रही हैं। क्लासरूम में डोरमैट, डस्टबिन, डस्टर, लेजर लाइट आदी की भी व्यवस्था की गई है।c

By Snews

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *